UC News

Android Q का नाम होगा Android 10, गूगल ने बदली सालों पुरानी परंपरा

Android Q का नाम होगा Android 10, गूगल ने बदली सालों पुरानी परंपरा
Third party image reference

Android Q को अब Android 10 नाम से जाना जाएगा। Google ने पिछले 10 सालों से चली आ रही अपनी परंपरा को बदल दिया है। गूगल ने अपने हर ओएस को किसी ना किसी डेसर्ट के नाम से उतारा है लेकिन गुरुवार को गूगल ने अपने अगले वर्जन के नाम की घोषणा की है जिसे एंड्रॉयड 10 नाम से जाना जाएगा। आधिकारिक ब्लॉग में गूगल ने कहा कि कंपनी अब ओएस के नाम में बदलाव करने जा रही है। अभी तक हर वर्जन को अल्फाबेटिकल आर्डर में डेसर्ट के नाम से उतारा गया है। 

Android 10 name, logo

Third party image reference

एंड्रॉयड 10 नए लोगो के साथ नज़र आ रहा है जिसमें एंड्रॉयड रोबोट टॉप पर है। बेहतर दृश्यता के लिए कलर को भी ग्रीन से ब्लैक में बदल दिया गया है। यह एक छोटा सा परिवर्तन है, लेकिन Google ने पाया कि हरे रंग को पढ़ना मुश्किल था, विशेष रूप से दृश्य हानि वाले लोगों के लिए। गूगल आधिकारिक तौर पर आने वाले हफ्तों में एंड्रॉयड 10 के फाइनल रिलीज़ को अपडेटेड लोगो के साथ रोल आउट करना शुरू करेगा। प्रोडक्ट मैनेजमेंट (एंड्रॉयड) के वाइस प्रेसिडेंट समीर सामत ने कहा, सबसे पहले, हम अपने रिलीज़ का नाम बदल रहे हैं। हमारी इंजीनियरिंग टीम हमेशा हर वर्जन के लिए इंटरनल कोड नाम का इस्तेमाल करती थी। समीर सामत ने बताया कि ग्लोबल ऑपरेटिंग सिस्टम होने की वज़ह से यह महत्वपूर्ण है कि नाम स्पष्ट होना चाहिए। इसलिए, एंड्रॉयड का अगला वर्जन के नाम में वर्जन नंबर देखने को मिलेगा, जैसा कि हमने आपको बताया गूगल के अगले वर्जन का नाम एंड्रॉयड 10 होगा।

Third party image reference

इस साल गूगल एंड्रॉयड 10 को और फिर अगले साल एंड्रॉयड 11 को उतारेगी और फिर ये सिलसिला ऐसे ही आगे चलता रहेगा। Android 10 के कुछ खास बदलाव कि बात करें तो इस बार कंपनी प्राइवेसी पर ज्यादा ध्यान दे रही है. नए प्राइवेसी फीचर्स दिए जाएंगे और सेटिंग्स में एक खास प्राइवेसी कंट्रोल का ऑप्शन भी दिया जाएगा. चूंकि आने वाले समय में कई कंपनियों फोल्डेबल स्मार्टफोन बेचेंगी, इसलिए Android 10 में फोल्डेबल डिस्प्ले वाले स्मार्टफोन के लिए भी सपोर्ट है. इस बार Android 10 के साथ यूजर्स को iOS के AirDrop जैसा भी फीचर मिलेगा जिसे Fast Share कहा जाएगा. जिसके जरिए एंड्रॉयड से एंड्रॉयड में तेजी से फाइल ट्रांसफर किए जा सकेंगे. यानी शेयर इट का भी खेल खराब हो सकता है.

एंड्रॉयड वर्जन और उनके नाम की लिस्ट

Android 1.6 – Donut

Android 2.0, Android 2.1 – Éclair

Android 2.2 – Froyo

Android 2.3, Android 2.4 – Gingerbread

Android 3.0, Android 3.1, Android 3.2 – Honeycomb

Android 4.0 – Ice Cream Sandwich

Android 4.1 – Jelly Bean

Android 4.4 – KitKat

Android 5 – Lollipop

Android 6 – Marshmallow

Android 7 – Nougat

Android 8 – Oreo

Android 9 – Pie

Google Photos यूज करते हैं तो आपके लिए है बड़ी खुशखबरी

Third party image reference

Google Photos यूज करते हैं तो अब इसे यूज करना पहले से ज्यादा दिलचस्प होगा. अब यूजर्स Google Photos में जा कर किसी तस्वीर से टेक्स्ट एक्स्ट्रैक्ट कर सकते हैं. दरअसल ये फीचर Google लेंस का है जिसे अब कंपनी Google Photos में दे रही है. इस तकनीक को OCR (ऑप्टिकल कैरेक्टर रिकॉग्निशन) कहते हैं. Google Photos में आप टेक्स्ट के जरिए तस्वीरें भी सर्च कर सकते हैं. अगर आपको Google Photos की लाइब्रेरी में कोई फोटो ढूंढना है तो आप उस फोटो में लिखे गए टेक्स्ट को लिख कर सर्च कर सकते हैं.

Third party image reference

उदाहरण के तौर पर अगर किसी फोटो में कोई चॉकलेट है जिसके रैपर पर नाम लिखा है आप Google Photos लाइब्रेरी में उसके रैपर का लिखा नाम टाइप करके सर्च कर सकते हैं. Google Photos में जा कर आप किसी फोटोज को ओपन करें. यहां लेंस का आईकॉन दिखेगा. इसे यूज करते हुए टेक्स्ट को कॉपी पेस्ट कर सकते हैं. उदाहरण के तौर पर कोई ईमेल आईडी या फिर ऐड्रेस किसी फोटो में है और आपको वहां से सीधे उसे वर्ड में कॉपी करना है.

Third party image reference

नोटपैड में सेव करना है. इसके लिए ये नया फीचर आपके लिए बेहतरीन साबित होगा. Google Photos के इस फीचर से आपको उस फोटो में दिख रहे पूरे टेक्स्ट को कॉपी करने का ऑप्शन मिलेगा. रिपोर्ट के मुताबिक ये फिलहाल कुछ एंड्रॉयड स्मार्टफोन्स में दिया गया है. हालांकि इसे अब तक iOS यूजर्स के लिए नहीं देखा गया है. Google Photos ने अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट किया है. इसमें कहा गया है, ‘इस महीने से हम फोटो को टेक्स्ट के जरिए सर्च करने की ऐबिलिटी जारी कर रहे हैं. एक बार आपने वो तस्वीर ढूंढ ली है फिर लेंस बटन को क्लिक करके आसानी से वो टेक्स्ट कॉपी पेस्ट कर सकते हैं. इसे इंपॉसिबल वाईफाई पासवर्ड के लिए भी यूज किया जा सकता है, ताकि वो पासवर्ड आपको मैनुअली एंटर न करना पड़े.

कैसी लगी आपको यह खबर, अपने विचार हमारे साथ शेयर करें कृपया इस पोस्ट को लाइक करें शेयर करें और हमारे पेज को फॉलो करना न भूलें लेटेस्ट अपडेट सबसे पहले पाने के लिए|

Topic: #गूगल
READ SOURCE
Open UCNews to Read More Articles