UC News

बांग्लादेशी क्रिकेटर शाकिब अल हसन पर आईसीसी ने दो साल का प्रतिबंध लगाया

शाकिब ने कहा, 'जिस खेल से मुझे प्यार है उससे प्रतिबंधित होने पर मैं काफी दुखी हूं. लेकिन मैं मानता हूं कि मैंने भ्रष्टाचार से जुड़ी बातें छुपाई.'

बांग्लादेशी क्रिकेटर शाकिब अल हसन पर आईसीसी ने दो साल का प्रतिबंध लगाया

ढाका : बांग्लादेश के शीर्ष खिलाड़ी और कप्तान शाकिब अल हसन भारत के आगामी दौरे पर नहीं आ सकेंगे. आईसीसी ने विश्व के नंबर 1 ऑल राउंडर शाकिब पर दो सालों के लिए प्रतिबंध लगा दिया है. आरोप है कि उन्होंने भ्रष्टाचार से जुड़ी बातों के बारे में बोर्ड को कोई जानकारी नहीं दी थी.

शाकिब ने कहा, ‘जिस खेल से मुझे प्यार है उससे प्रतिबंधित होने पर मैं काफी दुखी हूं. लेकिन मैं मानता हूं कि मैंने भ्रष्टाचार से जुड़ी बातें छुपाई. मैंने अपनी जिम्मेदारी ठीक से नहीं निभाई.’


देश के क्रिकेट बोर्ड के प्रमुख नजमुल हसन ने उनके रवैये पर सवाल उठाए थे. वहीं रिपोर्टों के अनुसार उन पर दो साल पहले भ्रष्ट पेशकश की रिपोर्ट नहीं करने के लिये प्रतिबंध लगना तय माना जा रहा था.

बता दें कि बांग्लादेश का भारत से सीरीज मैच होने वाला है. इस दौरे से पहले बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (बीसीबी) की मुश्किलें बढ़ गयी हैं. इसमें तीन टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों के अलावा दो टेस्ट मैच खेले जाएंगे.

देश के एक प्रमुख दैनिक ‘समकाल’ के अनुसार, ‘आईसीसी के कहने पर बीसीबी ने शाकिब को अभ्यास से दूर रखा है. यही कारण है कि वह अभ्यास मैचों में शामिल नहीं हुए और न ही उन्होंने गुलाबी गेंद से टेस्ट मैच खेलने पर चर्चा करने के लिए सोमवार को अध्यक्ष के साथ बैठक में हिस्सा लिया.’

रिपोर्ट में कहा गया था कि दो साल पहले शाकिब को एक अंतरराष्ट्रीय मैच से पहले सट्टेबाजी से पेशकश मिली थी लेकिन उन्होंने आईसीसी की भ्रष्टाचार निरोधक एवं सुरक्षा इकाई (एसीएसयू) के पास इसकी रिपोर्ट नहीं की थी.

रिपोर्ट में कहा गया है कि शाकिब ने हाल में एसीएसयू के जांच अधिकारी के सामने भी इस घटना की बात कबूल की थी.

32 वर्षीय शाकिब बांग्लादेश के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटरों में से एक हैं और उनके नाम पर तीनों प्रारूपों में 11,000 से अधिक रन और 500 से अधिक विकेट दर्ज हैं.

हसन ने ‘डेली स्टार’ से कहा, ‘सब कुछ संदेहास्पद लगता है. अगर कोई नहीं जाना चाहता है तो वे पहले बता दे तो कोई मसला नहीं है. ऐसा अहसास दिलाया जा रहा है कि वह टीम के लिये बेहद जरूरी हैं. आपका रवैया सही होना चाहिए.’

उन्होंने कहा, ‘यह (रवैया) पहले ऐसा नहीं था. इसके तार्किक कारण हो सकते हैं और मैं उन्हें बाद में देख लूंगा. अभी मेरी चिंता भारत दौरे को लेकर है. मैं खिलाड़ियों को लेकर चिंतित नहीं हूं. हमारे पास कई खिलाड़ी हैं.’

शाकिब के भारत दौरे पर आने को लेकर अनिश्चितता बनी हुई है क्योंकि उन्होंने दौरे से पहले मीरपुर में अभ्यास शिविर में हिस्सा नहीं लिया जिसमें एक अभ्यास मैच भी शामिल है.

बांग्लादेश की टीम बुधवार को भारत के लिये रवाना होगी और शाकिब संभवत: टीम के साथ नहीं आएंगे.

उनकी अनुपस्थिति में वरिष्ठ खिलाड़ी मुशफिकुर रहीम टेस्ट मैचों में जबकि महमुदुल्लाह टी20 अंतरराष्ट्रीय में टीम की अगुवाई कर सकते हैं.

इस नये घटनाक्रम से बीसीबी की मुश्किलें बढ़ गयी हैं जो बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली के ईडन गार्डन्स में गुलाबी गेंद से दिन रात्रि टेस्ट मैच खेलने के प्रस्ताव पर खिलाड़ियों को मनाने की कोशिश कर रहा है.

बांग्लादेश अपने दौरे की शुरुआत 3 नवंबर से शुरू होने वाली तीन टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों की श्रृंखला से करेगा. इसके बाद विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के तहत 14 नवंबर से दो टेस्ट मैचों की श्रृंखला होगी. पहला टेस्ट इंदौर में जबकि दूसरा टेस्ट 22 नवंबर से कोलकाता में खेला जाएगा.

शाकिब की अगुवाई में हाल में खिलाड़ियों ने हड़ताल की थी. बीसीबी ने उन्हें आश्वस्त किया कि वेतन वृद्धि सहित उनकी मांगों को स्वीकार किया जाएगा जिसके बाद हड़ताल समाप्त हुई थी.

(समाचार एजेंसी भाषा के इनपुट के साथ)

READ SOURCE
Open UCNews to Read More Articles