UC News

#NSC सर्टिफिकेट के जरिये बैंकों को करोड़ों रुपये का चूना लगाने वाले चार शातिर हुए गिरफ्तार

#NSC सर्टिफिकेट के जरिये बैंकों को करोड़ों रुपये का चूना लगाने वाले चार शातिर हुए गिरफ्तार

Kolkata :  नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (एनएससी) और किसान विकास पत्र (एनवीपी) के जरिये बैंकों को करोड़ों का चूना लगाने वाले चार शातिर अपराधियों को कोलकाता पुलिस की टीम ने गिरफ्तार किया है.

इनके नाम- प्रशांत कुमार मंडल, नव कुमार मिठिया, प्रदीप चक्रवर्ती और कौशिक राय चौधरी हैं. इनकी गिरफ्तारी के बारे में मंगलवार शाम कोलकाता पुलिस के संयुक्त आयुक्त मुरलीधर शर्मा ने जानकारी दी.

क्या है पूरा मामला

पुलिस ने बताया कि 18 जुलाई 2019 को जवाहरलाल नेहरू रोड में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के शाखा प्रबंधक संदीप कुमार चौबे ने प्राथमिकी दर्ज कराई थी. उन्होंने बताया था कि कुछ लोगों ने एनएससी सर्टिफिकेट जमा किए थे और 18 लाख रुपये का लोन लिया था.

इसके अलावा 22 लाख रुपये का ओवरड्राफ्ट भी लिया था. कुल मिलाकर 40 लाख रुपये बैंक से फाइनेंस किया गया था. इनके द्वारा जमा दस्तावेजों की जब जांच करने पर पता चला कि सारे एनएससी सर्टिफिकेट फर्जी थे.

इनके पत्ते और अन्य दस्तावेज भी जाली निकले जिसके बाद शेक्सपियर सरणी थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गयी. जांच में जुटी पुलिस ने इन चारों को धर दबोचा है.

कहां से किस अपराधी की हुई गिरफ्तारी

प्रशांत को उत्तर 24 परगना जिले के फलता से गिरफ्तार किया गया है जबकि नव कुमार को धर्मतल्ला से रात 11:30 बजे दबोचा गया. प्रदीप चक्रवर्ती को भी धर्मतल्ला से ही 11:35 बजे गिरफ्तार किया गया जबकि कौशिक रॉय चौधरी को मंगलवार तड़के दमदम से पकड़ा गया है.

इन सबके पास से 60 एनएससी सर्टिफिकेट बरामद किए गए हैं. प्रत्येक एनएससी सर्टिफिकेट एक लाख रुपये का है. इनके पास से 84 किसान विकास पत्र भी बरामद हुए हैं. प्रत्येक विकास पत्र 50 हजार रुपये का है.

इसके जरिए ये बैंकों को चूना लगाने की योजना बना रहे थे. अंदाजा लगाया जा रहा है कि क्षेत्र में स्टेट बैंक के तत्कालीन शाखा प्रबंधकों और आसपास के पोस्ट ऑफिस के अधिकारियों की भी भूमिका संदिग्ध है. इनसे पूछताछ कर इनके अन्य साथियों के बारे में पता लगाने की कोशिश की जा रही है.

READ SOURCE
Open UCNews to Read More Articles