UC News

क्रिकेट के भगवान सचिन के नाम है यें 5 शर्मनाक रिकॉर्ड, जिन्हे आज तक नहीं जानते होंगे आप

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेन्दुलकर को क्रिकेट जगत में रिकॉर्ड्स का बादशाह कहा जाता है. सबसे ज्यादा शतक लगाने से लेकर सबसे ज्यादा रन, अर्द्धशतक और सर्वाधिक मैच खेलने जैसे अनेक बड़े रिकॉर्ड पर सचिन का कब्जा है. लेकिन शानदार रिकॉर्ड के बीच कुछ ऐसे रिकॉर्ड्स भी सचिन के नाम है जो बेहद शर्मनाक है. आइये जानते है कौन से है वो रिकॉर्ड.

1- क्रिकेट में सबसे ज्यादा बार बोल्ड

क्रिकेट के भगवान सचिन के नाम है यें 5 शर्मनाक रिकॉर्ड, जिन्हे आज तक नहीं जानते होंगे आप
Third party image reference

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा बोल्ड आउट होने के मामले में पहले नंबर पर आते हैं. सचिन तेंदुलकर ने 1989 से लेकर 2012 तक भारतीय टीम के लिए क्रिकेट खेला. उन्होंने अपने क्रिकेट करियर में कुल 563 मैच खेले थे. जिसमे वह 123 बार बोल्ड आउट हुए थे. सचिन तेंदुलकर टेस्ट क्रिकेट में 54 बार बोल्ड आउट हुए थे. वहीं वनडे मैच में 68 बार वह बोल्ड हुए थे. वहीं एक बार वह टी-20 अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में बोल्ड हुए थे.

2- सबसे ज्यादा बार शून्य

भारत के लिए खेलते हुए सबसे ज्यादा बार शून्य के स्कोर पर आउट होने के मामले में पहले स्थान पर सचिन तेंदुलकर आते है. वह अपने खेले 463 वनडे मैच में कुल 20 बार शून्य के स्कोर पर आउट हुए हैं. सचिन के बाद जवागल श्रीनाथ दुसरे ऐसे भारतीय खिलाड़ी है जो सबसे ज्यादा बार शून्य के स्कोर पर आउट हुए है. श्रीनाथ 19 बार शून्य पर आउट हुए है.

3- डेब्यू मैच में लगातार शून्य

Third party image reference

सचिन तेंदुलकर ने साल 1989 में पाकिस्तान के खिलाफ अपना वनडे डेब्यू किया था। इस मैच में वो बिना कोई रन बनाए जीरो पर आउट हो गये थे। इसके तीन महीने बाद वह न्यूजीलैंड के खिलाफ भी अपने शून्य के स्कोर पर आउट हुए. उनके नाम शूरूआती दो मैच में जीरो पर आउट होने का रिकॉर्ड है.

4- जीरो की हैट्रिक

1994 में ऐसा मौका भी आया जब उन्होने ज़ीरो पर आउट होने की हैट्रिक भी बनाई. सितंबर—अक्टूबर में वह एक बार श्रीलंका और दो बार वेस्टंडीज के खिलाफ लगातार कुल तीन बार शून्य पर आउट हुए.

5- भारत के सबसे असफल कप्तान

Third party image reference

सचिन की कप्तानी में टीम कोई खास प्रदर्शन नहीं कर पाई. खासकर एकदिवसीय मैचों में कप्तान के रूप में उनका खुद का प्रदर्शन भी इतना अच्छा नहीं रहा. कप्तान के रूप में एकदिवसीय मैचों में बल्लेबाज के रूप में सचिन का औसत 37.75 है जबकि बिना कप्तान के रूप में उनका औसत 46.16 है. कप्तान के रूप में 73 मैच खेलते हुए सचिन ने 2454 रन बनाए हैं जिसमें सिर्फ छह शतक और 12 अर्द्धशतक शामिल हैं.

सचिन की कप्तानी में भारत ने 73 मैच खेलते हुए सिर्फ 23 मैच जीत हासिल की जबकि 43 मैचों में हार हुई थी, एक मैच टाई हुआ था और छह मैचों में कोई नतीजा नहीं आया था. इस तरह सचिन की कप्तानी में भारत की जीत का प्रतिशत 35.07 है जो बहुत कम है.

दोस्तों जानकारी कैसी लगी कमेंट करें और लाइक, फॉलो के निशान पर क्लिक कर पोस्ट को शेयर भी कर दें.

READ SOURCE
Open UCNews to Read More Articles

HOT COMMENTS

Ashoka

हम सचिन sirko बुरा नही बोलना चाहते मगर वो जबभी 100 बनाते तब तब इंडिया मैच हारता q k वो 100 बनके चक्करमें बहौत ज्यादा गेंदे खराब करदेते

3 Months ago

5
Babur

sab se jyada satak

3 Months ago

1
Nikita

अगर आप फ्री में Onlіnе Ѕhoppіng करना चाहते है तो МalⲒ91 नाम का Aрplicatіоn ⲢlayЅtorе से dоwnⲒoad📲 करे, Doѕtо МalⲒ91 aрp से आप frеe में 50,000 तक की ѕhopіng kаr ѕakte haі या Aар іs Ⲣaiѕo kо Ⲃаnk mе bhі bhеj sаkte hаi Doѕtо іsmе rеgiѕtratіon kаrtе ѕamаy रेफेर कोड UV1BTVY dаⲒna hаі 💴💲💵💲💷💲💶💲💴koy dfg

3 Months ago

0
Read More Comments