UC News

अपने गुरु अचरेकर को याद करते हुए भावुक हुए सचिन तेंदुलकर

अपने गुरु अचरेकर को याद करते हुए भावुक हुए सचिन तेंदुलकर

जयपुर। जैसा कि आप जानते हैं कि कल यानि कि 2 जनवरी को गुरु रमाकांत आचरेकर की पहली पुण्यतिथि थी, जिसपर सचिन तेंदुलकर ने उन्हें यान किया और साथ एक भावुक संदेश भी दिया। जिसके बारे में आज हम आपको अपने इस ऑर्टिकल में बताने जा रहे हैं। इसके साथ ही बता दें कि एक साल पहले 2 जनवरी 2019 के दिन सचिन के बचपन के गुरु का 87 वर्ष की उम्र में निधन हो गया था।

इसके साथ ही आपको बता दें कि भारटीय टीम महान बल्लेबाज़ व पूर्व खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर ने आज उनकी पहली पुण्यतिथि पर अपने गुरु के साथ अपनी एक पुरानी तस्वीर को इंस्टाग्राम पर पोस्ट करते हुए अपनी श्रद्धांजलि दी। इसके साथ ही सचिन तेंदुलकर ने इस तस्वीर के कैप्शन में मारठी भाषा में एक संदेश लिखा है, ‘आप हमेशा हमारे दिलों में रहेंगे, आचरेकर सर!’ इसके बाद  सचिन ने लिखा था, ‘स्वर्ग में भी अगर क्रिकेट होगा तो आचरेकर सर उसे समृद्ध कर देंगे। उनके दूसरे शिष्यों की तरह मैंने भी क्रिकेट की एबीसीडी उन्हीं से सीखी। मेरे जीवन में उनके योगदान को शब्दों में नहीं गढ़ा जा सकता। आज मैं जहां खड़ा हूं, उसका आधार उन्हीं ने बनाया था।’

इसके साथ ही आपको जानकारी के लिए बता दें कि आचरेकर ने खुद एक ही प्रथम श्रेणी मैच खेले, परंतु तेंदुलकर के कैरियर को संवारने में उनका बड़ा योगदान रहा। वह अपने स्कूटर से उसे स्टेडियम लेकर जाते थे। इसके साथ ही सचिन उनको बहुत मानते थे। सचिन ने अपनी सपलता का पूरा-पूरा श्रेय उनको ही दिया है।

READ SOURCE
Open UCNews to Read More Articles