UC News

अतिरिक्त रन विवाद पर आखिरकार ICC ने तोड़ी चुप्पी, ECB ने किया खारिज

वरथ्रो पर चल रहे इस विवाद को लेकर आईसीसी (ICC) ने आखिरकार अपनी चुप्पी तोड़ दी है.

अतिरिक्त रन विवाद पर आखिरकार ICC ने तोड़ी चुप्पी, ECB ने किया खारिज
अतिरिक्त रन विवाद पर आखिरकार ICC ने तोड़ी चुप्पी, ECB ने किया खारिज

नई दिल्ली:

आईसीसी (ICC) विश्व कप (World Cup) 2019 का फाइनल मैच विवादों से भरा रहा है. पहले आईसीसी (ICC) का बाउंड्री काउंट रूल और फिर ओवरथ्रो पर बेन स्टोक्स को मिले अतिरिक्त रन ने क्रिकेट फैन्स को कन्फ्यूज कर रखा है कि विश्व विजेता इंग्लैंड के हक में फैसले कितने सही थे. हालांकि ओवरथ्रो पर चल रहे इस विवाद को लेकर आईसीसी (ICC) ने आखिरकार अपनी चुप्पी तोड़ दी है. पूर्व अंपायर सायमन टॉफेल की ओर से अतिरिक्त रन दिए जाने की गलती बताने के बाद जब आईसीसी (ICC) से इस बारे में सवाल किया गया तो आईसीसी (ICC) ने इस मुद्दे पर बात करने से इंकार कर दिया है.

आईसीसी (ICC) ने कहा कि वह इस मुद्दे पर कुछ भी नहीं कहना चाहेगी. वहीं इंग्लैंड (England) एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) के निदेशक ऐश्ले जाइल्स ने आईसीसी (ICC) (ICC) विश्व कप (World Cup) (World Cup)-2019 के फाइनल में इंग्लैंड (England) को ओवरथ्रो में अतिरिक्त रन मिलने वाली बात को खारिज कर दिया है.

बीबीसी ने जाइल्स के हवाले से लिखा है, ‘बिल्कुल नहीं. आप मुझसे यह भी कह सकते हैं कि ट्रेंट बोल्ट की अंतिम गेंद जो लेग स्टम्प पर फुलटॉस थी और अगर स्टोक्स दो रन के लिए नहीं जाते तो वह उसे छह रनों के लिए भेज सकते थे.’

जाइल्स ने कहा, ‘हम विश्व विजेता हैं. हमें ट्रॉफी मिली है और हम इसे अपने पास रखना चाहते हैं.’

गौरतलब है कि 242 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए जब आखिरी ओवर में इंग्लैंड (England) के बेन स्टोक्स ने गेंद को बाउंड्री के पास खेला और दूसरा रन लेने के लिए दौड़े तो क्रीज में पहुंचने से पहले न्यूजीलैंड (New Zealand) के क्षेत्ररक्षक द्वारा फेंकी गई गेंद उनके बल्ले से लगकर चौके को चली गई और इंग्लैंड (England) के खाते में कुल छह रन आ गए और यह रन न्यू जीलैंड पर कितने भारी पड़े, अब यह सभी के सामने है.

पूर्व अंपायर साइमन टॉफेल ने कहा है कि इंग्लैंड (England) को एक रन अतिरिक्ति मिला क्योंकि जब गेंद स्टोक्स के बल्ले से टकरा कर चौके को गई तब दूसरा रन पूरा नहीं हुआ था और ऐसे में दौड़ने का एक रन और चौका मिलकर इंग्लैंड (England) के खाते में पांच रन आने चाहिए थे न कि छह रन.

फाइनल मैच में इंग्लैंड (England) को इस पारी में कुल लगाई गई बाउंड्री के आधार पर जीत मिली थी. न्यूजीलैंड (New Zealand) ने भी इस मैच में 241 रन बनाए और इंग्लैंड (England) ने भी इतने ही रन बनाए. मैच सुपर ओवर में गया और यहां भी मैच टाई रहा जिसके बाद बाउंड्री ज्यादा मारने के कारण इंग्लैंड (England) टीम विश्व विजेता बनी.

(IANS इनपुटस के साथ)

READ SOURCE
Open UCNews to Read More Articles